You are here: Homeराष्ट्रीय समाचार राजनीति

Politics (45)

उत्तर प्रदेश में दो चरण में मतदान हो चुके हैं तो वहीं तीसरे चरण के लिए मतदान 19 फरवरी को है. इस बार चुनावों में नेताओं के साथ ही कई महिलाएं भी चुनाव लड़ रही हैं. जिनमें से कई नेताओं की पत्नियां भी हैं, इस बार कुल 40 नेताओं की पत्नियां चुनाव लड़ रही हैं. इनमें समाजवादी पार्टी, भारतीय जनता पार्टी, बसपा और अपना दल की कई महिला प्रत्याशी शामिल हैं.

1. अपर्णा यादव (लखनऊ कैंट)

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा लखनऊ कैंट से चुनाव लड़ रही हैं. वह मुलायम सिंह यादव के बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं. अपर्णा यादव बीजेपी नेता रीता बहुगुणा जोशी के खिलाफ चुनाव लड़ रही हैं. हाल ही में डिंपल यादव भी अपर्णा यादव के लिए प्रचार करने पहुंची थी. अपर्णा यादव कई मौकों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ कर सुर्खियां बटोर चुकी हैं.

 

2. स्वाति सिंह (सरोजनी नगर, लखनऊ)

उत्तर प्रदेश बीजेपी के पूर्व उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह लखनऊ के सरोजनीनगर से चुनावी मैदान में हैं. दयाशंकर के बसपा सुप्रीमो मायावती के बारे में अपशब्दों का प्रयोग करने के बाद स्वाति सिंह ने अपने पति की तरफ से मोर्चा संभाला था. वह बीजेपी की राज्य महिला विंग की अध्यक्ष भी हैं.

 

3. माधुरी वर्मा (ननपुरा, बहराइच)

पूर्व विधायक दिलीप वर्मा की पत्नी बहराइच से चुनावी मैदान में हैं. दिलीप वर्मा ने जेल से ही अपनी पत्नी को राजनीति में उतारा था. माधुरी 2012 में कांग्रेस की ओर से चुनाव जीत चुकी हैं लेकिन इस बार वह बीजेपी की ओर से चुनाव लड़ रही हैं.

 

4. प्रमिला धर त्रिपाठी (हंडिया, भदोही)

राज्य सरकार में मंत्री रह चुके राकेश धर त्रिपाठी की पत्नी प्रमिला भदोही से अपना दल की ओर से चुनाव लड़ रही हैं. राकेश धर त्रिपाठी हाल ही में जेल से बाहर आएं हैं. उन्होंने 2014 में भदोही से लोकसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन वह चुनाव हार गए थे.

 

5. अलका राय (मोहम्मदाबाद, गाजीपुर)

अलका राय गाजीपुर से बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं. वह बीजेपी नेता कृष्ण नंद राय की पत्नी हैं. कृष्ण राय की हत्या 2005 में मुख्तार अंसारी गैंग की ओर से की गई हैं.

 

6. जल देवी (मलीहाबाद, लखनऊ)

बीजेपी के सांसद कौशल किशोर की पत्नी जल देवी भी इस बार चुनावी मैदान में हैं.

 

7. संजू देवी (टांडा, अंबेडकर नगर)

अंबेडकरनगर की टांडा सीट से संजूदेवी बीजेपी की टिकट से चुनाव लड़ रही हैं. वह हिंदूयुवा वाहिनी के नेता रामबाबू गुप्ता की पत्नी हैं, वह 2013 में सांप्रदायिक हिंसा में मारे जा चुके हैं.

 

8. शोभा सिंह (बीकापुर, फैजाबाद)

रालोद के नेता रह चुके मुन्ना सिंह की मौत के बाद अब उनकी पत्नी चुनावी मैदान में हैं. वह बीजेपी की टिकट से चुनाव लड़ रही हैं.

 

9. पूजा पाल (इलाहाबाद वेस्ट)

बीएसपी की विधायक पूजा पाल एक बार फिर चुनाव लड़ रही हैं. उनके पति राजू पाल की हत्या कर दी गई थी. उनकी हत्या का आरोप अतीक अहमद पर लगा था.

 

10. नीलम करवारिया (मेजा, इलाहाबाद)

इलाहाबाद की मेजा सीट से उदय भान करवारिया ने इस बार अपनी पत्नी नीलम को चुनावी मैदान में उतारा है. वह बीजेपी की ओर से चुनाव लड़ रही हैं, उदय भान के खिलाफ कई केस दर्ज हैं.

 

11. रूबा (सईद, बहराइच)

सपा विधायक वकार अहमद शाह की पत्नी रूबा सईद बहराइच से चुनाव लड़ रही हैं. वकार सपा की सरकार में मंत्री रह चुके हैं, अपनी तबीयत ठीक ना रह पाने के कारण उन्होंने चुनाव ना लड़ने का फैसला लिया.

 

12. रानी पक्षलिका सिंह (बाह, आगरा)

सपा सरकार में मंत्री रहे अरिदमन सिंह और उनकी पत्नी रानी पक्षलिका सिंह चुनावों से पहले सपा का दामन छोड़ बीजेपी में शामिल हो चुके हैं. इस बार पक्षलिका सिंह बीजेपी की टिकट से चुनाव लड़ रही हैं.

 

13. सरिता बहादुरिया (इटावा)

पूर्व बीजेपी विधायक अभयवीर सिंह की पत्नी सरिता बहादुरिया इस बार बीजेपी की टिकट से इटावा से चुनाव लड़ रही हैं.

Submit to DeliciousSubmit to DiggSubmit to FacebookSubmit to Google PlusSubmit to StumbleuponSubmit to TechnoratiSubmit to TwitterSubmit to LinkedIn

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को आजम खान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वो ऐसे नेता हैं जिनका नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है| शिवराज ने कहा कि पुखरायां में ट्रेन हादसा हुआ था तो वह मध्य प्रदेश से यहां घायलों को देखने आ गए थे लेकिन इस यूपी के मुख्यमंत्री लखनऊ में रहने के बावजूद यहां नहीं आए थे|

शिवराज सिंह चौहान ने सपा नेता आजम खान का नाम लेते हुए कटाक्ष किया कि आजम का नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है| उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार सांप्रदायिक आधार पर काम करती है और भेदभाव करती है| यहां की सरकार वोट बैंक बनाने के चक्कर में तुष्टीकरण की राजनीति करती है तब ही कानून व्यवस्था खराब होती है|

उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने वाली है और फिर यहां का विकास भी बीजेपी के अन्य राज्यों की तरह होगा|

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान सोमवार शाम सीसामउ विधानसभा क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के समर्थन में चुनाव प्रचार करने आए थे| उन्होंने कहा कि सैफई हवाई अड्डे पर उतरे तो वहां की चमक दमक देखकर दंग रह गए, जबकि कुछ दिनों पहले जब कानपुर आए थे तो यहां मालूम हुआ था कि यहां केवल एयरफोर्स का हवाई अड्डा है| उन्होंने कहा कि पूरे देश में मोदी लहर चल रही है इसलिए अखिलेश और राहुल डर की वजह से एक हो गए हैं|

शिवपान ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद सबसे पहले मध्यप्रदेश से डाकूओं के खात्मे का काम किया| हाल में सिमी के आतंकवादियों ने जेल से भागने का काम किया था| उनका अंजाम देखकर अब जेल में अपराधी कहते है कि जेलर साहब हमारी जेल में एक ताला और डाल दो| अगर सरकार सख्त हो तो अपराधियों के हौंसले पस्त हो जाते हैं| उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार आई तो गुंडे या तो जेल के अंदर होंगे या प्रदेश छोड़कर भाग जाएंगे|

चौहान ने कहा कि विकास की योजनाएं उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर लाई जाएंगी| उन्होंने समाजवादी पार्टी की सरकार पर आरोप लगाया कि वह प्रधानमंत्री मोदी की सरकारी योजनाओं को लागू करने से इसलिए डरती रही कि कहीं इससे मोदी सरकार का नाम न हो जाए| 

Submit to DeliciousSubmit to DiggSubmit to FacebookSubmit to Google PlusSubmit to StumbleuponSubmit to TechnoratiSubmit to TwitterSubmit to LinkedIn

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को आजम खान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि वो ऐसे नेता हैं जिनका नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है| शिवराज ने कहा कि पुखरायां में ट्रेन हादसा हुआ था तो वह मध्य प्रदेश से यहां घायलों को देखने आ गए थे लेकिन इस यूपी के मुख्यमंत्री लखनऊ में रहने के बावजूद यहां नहीं आए थे|

शिवराज सिंह चौहान ने सपा नेता आजम खान का नाम लेते हुए कटाक्ष किया कि आजम का नाम ले लूं तो नहाना पड़ता है| उन्होंने आरोप लगाया कि प्रदेश सरकार सांप्रदायिक आधार पर काम करती है और भेदभाव करती है| यहां की सरकार वोट बैंक बनाने के चक्कर में तुष्टीकरण की राजनीति करती है तब ही कानून व्यवस्था खराब होती है|

उन्होंने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने वाली है और फिर यहां का विकास भी बीजेपी के अन्य राज्यों की तरह होगा|

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान सोमवार शाम सीसामउ विधानसभा क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी के समर्थन में चुनाव प्रचार करने आए थे| उन्होंने कहा कि सैफई हवाई अड्डे पर उतरे तो वहां की चमक दमक देखकर दंग रह गए, जबकि कुछ दिनों पहले जब कानपुर आए थे तो यहां मालूम हुआ था कि यहां केवल एयरफोर्स का हवाई अड्डा है| उन्होंने कहा कि पूरे देश में मोदी लहर चल रही है इसलिए अखिलेश और राहुल डर की वजह से एक हो गए हैं|

शिवपान ने कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री बनने के बाद सबसे पहले मध्यप्रदेश से डाकूओं के खात्मे का काम किया| हाल में सिमी के आतंकवादियों ने जेल से भागने का काम किया था| उनका अंजाम देखकर अब जेल में अपराधी कहते है कि जेलर साहब हमारी जेल में एक ताला और डाल दो| अगर सरकार सख्त हो तो अपराधियों के हौंसले पस्त हो जाते हैं| उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार आई तो गुंडे या तो जेल के अंदर होंगे या प्रदेश छोड़कर भाग जाएंगे|

चौहान ने कहा कि विकास की योजनाएं उत्तर प्रदेश में सरकार बनने पर लाई जाएंगी| उन्होंने समाजवादी पार्टी की सरकार पर आरोप लगाया कि वह प्रधानमंत्री मोदी की सरकारी योजनाओं को लागू करने से इसलिए डरती रही कि कहीं इससे मोदी सरकार का नाम न हो जाए| 

Submit to DeliciousSubmit to DiggSubmit to FacebookSubmit to Google PlusSubmit to StumbleuponSubmit to TechnoratiSubmit to TwitterSubmit to LinkedIn

फोटो गैलरी

Rashtra Samvad FB

Contact Us

      • Address: 66, Golmuri Bazar, Jamshedpur-831003, Jharkhand
      • Tel: 0657-2341060 Mbl: 09431179542, 09334823893
      • Email:  This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
      • Website: http://rashtrasamvadgroup.com/

About Us

Rashtrasamvad is one of the renowned Hindi Magazine in print and web media. It has earned appreciation from various eminent media personalities and readers. ‘Rashtrasamvad’ is founded by Mr. Devanand Singh.